Select location to see news around that location.Select Location

इलाज के दौरान नगर पालिका उपाध्यक्ष की मौत, शादी समारोह में मारी थी तीन गोली

इलाज के दौरान नगर पालिका उपाध्यक्ष की मौत, शादी समारोह में मारी थी तीन गोली

गोली लगने के बाद गुड़गांव में इलाज करा रहे बहरोड़ नगर पालिका उपाध्यक्ष राकेश शर्मा ने बुधवार को दम तौड़ दिया

बहरोड़. गोली लगने के बाद गुड़गांव में इलाज करा रहे बहरोड़ नगर पालिका उपाध्यक्ष राकेश शर्मा ने बुधवार को दम तौड़ दिया। उनका इलाज गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में चल रहा था। सोमवार रात रात दो युवकों ने उन्हे एक शादी समारोह में सरेआम गोलियां मारकर घायल कर दिया था। कुर्सी पर बैठे शर्मा पर हमलवारों ने करीब से तीन गोलियां चलाईं जो उनके सिर और पेट में लगीं थी। गौरतलब है कि शर्मा को पहले भी जान से मारने की धमकियां मिलीं थी। एक बार उनके मकान पर भी हमला हो चुका है। घटना के बाद आरोपियों का होटल के सीसीटीवी फुटेज से सुराग लगाने का प्रयास किया जा रहा है।

- मौत की खबर मिलने के बाद बहरोड़ में चौराहे से पुराना बस स्टैंड तक का मार्केट बंद रखा गया है।,मेदांता हॉस्पिटल में राकेश शर्मा को 11 बजे मृत घोषित किया।

- शाम राकेश शर्मा, पूर्व अध्यक्ष जलेसिंह यादव, पार्षद पति मनोज यादव, लायंस क्लब अध्यक्ष कमल शर्मा व दिनेश यादव अलग-अलग मांगलिक कार्यों में शामिल होते हुए रात करीब 10.45 बजे शक्ति रिसोर्ट पहुंचे थे। यहां बहरोड़ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र यादव की बेटी का शादी समारोह चल रहा था। शहर भर से प्रतिष्ठित लोगों की मौजूदगी थी। शर्मा व अन्य सभी कुर्सी पर बैठ कन्यादान के बारे में चर्चा कर रहे थे। इसी दौरान दाे युवक लॉन में उनके पास पहुंचे और करीब आकर नपा उपाध्यक्ष शर्मा पर ताबड़-तोड़ फायरिंग कर दी। गोलियां चलने से वहां मौजूद एक हजार से ज्यादा लोगों में भगदड़ सी मच गई। शर्मा लहुलुहान हालत में वहीं गिर पड़े। उन्हें तत्काल कैलाश हॉस्पिटल ले जाया गया। चिकित्सकों की टीम ने प्राथमिक इलाज के बाद देररात उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल रैफर कर दिया।

शर्मा के घर पर पहले भी हो चुकी फायरिंग

- क्षेत्र के गांव जागुवास के हाल शक्ति विहार कालाेनी निवासी 32 वर्षीय भाजपा नेता राकेश शर्मा पुत्र स्वर्गीय सुरेश चंद शर्मा वर्ष 2015 में नगर पालिका उपाध्यक्ष चुने गए थे। उन पर करीब एक साल पहले मकान में फायरिंग व मारपीट की घटना घटित हाे चुकी है, लेकिन घटना के दाैरान उनके मकान पर उनके बड़ी संख्या में समर्थक होने से बचाव हो गया। जिससे पुलिस ने कुछ युवकों को हिरासत में भी लिया। इसके बाद उन्होंने घर से निकलने की दिनचर्या बदल ली और सावधानी बरतने लगे।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top