Select location to see news around that location.Select Location

गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने के लिए पिस्टल लेकर खिंचवाया फोटो, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने के लिए पिस्टल लेकर खिंचवाया फोटो, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने हाथों में पिस्टल लेकर खिंचाया फोटो, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

कसा शिकंजा: बाप-बेटा गैंग के दो शूटर पुलिस के हत्थे चढ़े

पटना. पुलिस की विशेष टीम ने बाप-बेटा गैंग के दो शातिर शूटरों रवि सिंह और अजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया। दोनों बिहटा थाने के पैनाल केे रहने वाले हैं। पुलिस ने दोनों के पास से दो पिस्टल, चार कारतूस, दो मोबाइल और एक चोरी की स्कूटी जब्त की है। कुछ दिन पहले एसएसपी मनु महाराज को बिहटा के एक व्यवसायी ने रवि सिंह की एक तस्वीर वाट्सएप पर भेजी थी। तस्वीर में वह आबादी वाले इलाके में दोनों हाथों में पिस्टल लिए हुए दिख रहा है। इसके बाद एसएसपी ने टीम बनाकर उसे जल्द गिरफ्तार करने का आदेश दिया था।

गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने के लिए पिस्टल लेकर खिंचवाया फोटो

- रवि ने पुलिस को बताया कि वह अपनी गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने के लिए दोनों हाथ में पिस्टल लेकर तस्वीर खिंचवाई थी। वे लोग कुख्यात बाप-बेटे मनोज सिंह और माणिक के लिए काम करते हैं। पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है। हाल में कुछ और युवकों को रवि ने गैंग में शामिल करवाया है। एसएसपी ने कहा कि जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। रवि के पास से जो दो पिस्टलें बरामद हुई हैं, उसी को लेकर उसने तस्वीर खिंचवाई थी।

दिल्ली से की इंजीनियरिंग की पढ़ाई

- रवि सिंह दिल्ली इंजीनियरिंग काॅलेज का छात्र रहा है। सत्र 2011-15 के दौरान उसने वहां से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी। इसके बाद बतौर इंजीनियर कई जगहों पर नौकरी भी की। सूत्रों की मानें तो तीन महीने पहले तक वह जबलपुर में एक बड़ी कंस्ट्रक्शन कंपनी में नौकरी कर रहा था। वहां इस्तीफा देने के बाद वह बिहटा आ गया और पूरी तरह अपराध जगत में सक्रिय हो गया।

शराब-गांजा पीते हुआ था वीडियो वायरल

- तस्वीर के साथ रवि का वीडियो भी वायरल हुआ था। वीडियो में रवि अपने कुछ गुर्गों के साथ शराब और गांजे का सेवन कर रहा है। उसका इतना बेखौफ था कि व्यवसायियों से रंगदारी मांगने के बाद पिस्टल ली हुई अपनी तस्वीर उसे भेजता था।

- पढ़ाई के दौरान छुटि्टयों में घर आने पर रवि की मुलाकात मनोज और माणिक से हुई थी। वह डॉन बनना चाहता था। इसी कारण उसने नौकरी छोड़ दी। हाल में उसने किंग्स ऑफ पैनाम नाम से एक गैंग भी बना लिया था।

ग्रामीण के मुंह में डाल दी थी पिस्टल

- अप्रैल में रवि का महमदपुर गांव के एक व्यक्ति से झगड़ा हो गया था। इस दौरान उसने उस व्यक्ति के मुंह में पिस्टल डाल दी थी और उसकी जमकर पिटाई कर दी थी। इसके बाद रवि के खिलाफ पीड़ित ने बिहटा थाने में मामला भी दर्ज कराया था, लेकिन बाद में दोनों ने आपस में सुलह कर लिया था। वहीं, शूटर अजीत हत्या के मामले में पहले जेल जा चुका है। 2010 और 2013 में अजीत ने दो हत्याकांडों को अंजाम दिया था।

मनोज और उसका बेटा माणिक फरार

हत्या, अपहरण, डकैती व रंगदारी जैसे दो दर्जन से अधिक वारदातों को अंजाम देने वाला नौबतपुर का कुख्यात मनोज फिलहाल फरार है। उसका बेटा माणिक भी बाप के साथ अपराध जगत में सक्रिय है। फिलहाल गैंग की कमान माणिक के हाथों में ही है। बताया जाता है कि मनोज 2004 से अपराध जगत में सक्रिय है। बाद में बेटा माणिक भी उसी की राह पर चल पड़ा और कम समय में ही इलाके में उसका खौफ कायम हो गया। रवि को माणिक ने ही अपने गैंग में लाया था। सितंबर, 2015 में जिला पार्षद कविता देवी के पति लुलन शर्मा की नौबतपुर पोस्ट ऑफिस के पास सरेशाम हत्या करने के बाद मनोज और माणिक का आतंक चरम पर पहुंच गया था।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top