अंदाज अपना अपना के दूसरे भाग के साथ लौटेगी सलमान और आमिर की जोड़ी बंगलुरु के इस्कॉन मंदिर में जन्माष्टमी का भव्य आयोजन, कान्हा का 20 लाख के आभूषणों से होगा श्रृंगार किस्मत हो तो ऐसी, स्टेशन पर गाना गाने वाली महिला आज हिमेश की फिल्म में गा रही है गाना जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के आवासीय परिसर समेत कई स्थानों पर ED का छापा अपने एजेंडे में कश्मीर रख मोदी का प्लान जानना चाहते है ट्रम्प इनकम टेक्स भरने से होते ये फायदे तमिलनाडु सरकार ने ISRO के अध्यक्ष के. सिवन को एपीजे अब्दुल कलाम पुरस्कार से किया सम्मानित इस लिए नहीं मिला रोहित और आश्विन को मौका : रहाणे डेविस कप के लिए अब भारत और पकिस्तान को नवम्बर तक होगा रुकना HC ने जारी किया भाजपा नेता विजेंद्र सिंह को नोटिस, बढ़ सकती है मुश्किलें तीन तलाक कानून के खिलाफ SC में दायर हुई याचिका, कोर्ट ने किया रोक लगाने से इनकार पिछले दो हफ्तों से आग में झुलस रहा है दुनिया का सबसे बड़ा जंगल अमेजन घर से आया खाना साथ ही देर रात तक सीबीआई ने करी पूछताछ कोंडागांव के परेशान गांववालों ने बनाया जुगाड़ का पुल गाजियाबाद: सीवर लाइन की सफाई करने उतरे 5 सफाई कर्मियों की मौत पिछले 5 सालो में 56 गुना बड़ी देता खपत के साथ 22 गुना हुआ सस्ता कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम CBI के सवालों से घिरे टीम इंडिया को धमकी देने वाला शख्श को लिया गया हिरासत में जन्माष्टमी के बारे में जानें सबकुछ सेंसेक्स 669 अंक लुढ़क, निफ्टी 193 प्वाइंट गिरकर 10750 के साथ हुआ बंद

मध्यप्रदेश: उज्जैन में अवैध जमीन पर बने होटल को बम से उड़ाया

Khushboo 04-07-2019 16:45:54



मध्यप्रदेश के उज्जैन में बुधवार को एक बहुमंजिला होटल बम से विस्फोट कर उड़ा दिया गया. होटल की बहुमंजिला इमारत चंद मिनटों में ताश के पत्ते की तरह भरभराकर गिर पड़ी. बम धमाके को लेकर ज्यादा दिमाग ना लगाइए, विस्फोट प्रशासन ने ही कराया.

दरअसल मामला यह है कि महाकाल की नगरी उज्जैन में अवैध जमीन पर बने एक होटल को जमींदोज करने का आदेश हाई कोर्ट की डबल बेंच ने दिया था. उज्जैन के सबसे बड़े और आलीशान होटलों में से एक शांति पैलेस का निर्माण अवैध जमीन पर किए जाने की शिकायत पर सुनवाई के बाद अदालत ने यह आदेश दिया था. अदालती आदेश के अनुपालन में ही पुलिस-प्रशासन ने यह कार्रवाई की.

पिलरों में लगाए विस्फोटक, फिर किया विस्फोट

इंदौर के ब्लास्ट एक्सपर्ट शरद सरवटे ने होटल शांति पैलेस और क्लार्क्स-इन के पिलरों में पहले विस्फोटक लगाए, फिर विस्फोट किया गया. विस्फोट के बाद चमचमाता भवन चंद मिनटों में धराशायी हो गया. जानकारी के अनुसार इस होटल को कॉलोनी के लिए काटे गए प्लाट पर अवैध रूप से बनाया गया था.

करोड़ों की लागत से बना था सौ कमरों का होटल

इस होटल में सौ कमरे थे. इसके निर्माण पर अनुमानित लागत करोड़ों रुपये बताई जाती है. आरोपों के अनुसार तत्कालीन नगर निगम के अधिकारियों की मिलीभगत से उक्त होटल का निर्माण कराया गया था. निर्माण की वजह से होटल के निर्माण के समय किसी तरह का विवाद नहीं हुआ था.

मामला कोर्ट जाने के बाद हुआ एक मंजिल का निर्माण

होटल के अवैध जमीन पर निर्माण का मामला कोर्ट जाने के बाद मालिक ने एक मंजिल का और निर्माण कराया था. लंबी कानूनी प्रक्रिया के बीच हाई कोर्ट के स्टे के बावजूद होटल मालिक ने पुरानी इमारत के बाद एक और बहुमंजिला इमारत तान दी थी.

10 साल बाद आया फैसला

करीब 10 साल की कानूनी प्रक्रिया के बाद हाई कोर्ट की डबल बेंच ने इन दोनों इमारतों को तोड़ने का आदेश जारी किया. इसके बावजूद  उज्जैन नगर निगम ने  कार्रवाई में देरी की. माना जा रहा है कि  यह लेटलतीफी होटल मालिक को फायदा पहुंचाने के लिए की गई थी. जिससे वह हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सके. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने भी हाई कोर्ट के आदेश को भी यथावत रखा और होटल ना तोड़े जाने की याचिका को रद्द कर दिया!

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :