मोटर व्हीकल एक्ट: हवलदार शराब के नशे में वाहन चलाता मिला, ट्रैफिक पुलिस ने काटा 15 हजार का चालान जल्द ही दिल्ली-कटरा के बीच चलेगी देश की दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस IAS बना गली ब्वॉय,पायी 77वीं रैंक अब देहरादून निवासी घर बैठे कराएं वाहन की प्रदूषण जांच कश्मीर मैं होगा अब विकास का राज: PM मोदी बागपत: महिला सिपाही पर हमला बाघपत: करंट लगने से महिला की मौत BCCI के ACU चीफ ने दिया सुझाव, कहा मैच फिक्सिंग-सट्टेबाज को लीगल किया जाए अब लखनऊ के उबर ड्राइवर ने अपनी मधुर आवाज के साथ लोगों का ध्यान किया आकर्षित IND vs SA, 2nd टी 20 मैच में कुछ ऐसा होगा मोहाली का पिच DRDO का अनमैन्ड एरियल व्हीकल दुर्घटनाग्रस्त एक छोटी सी चिड़ियां ने सिखाई ज़िन्दगी की सीख PM मोदी के जन्मदिन पर नेताओं ने दी बधाई मुझे कश्मीर के लोगों की चिंता : गुलाम नबी आजाद बढ़ी मुश्क़िलों में गिरा लालू का परिवार IRCTC टेंडर घोटाला में 2 दिसंबर से सुनवाई क्यों नहीं रोक पा रहा सऊदी अरब खुद पर हमला सोशल मीडिया पर बटोरीं सुर्खियां PM मोदी की 8 ड्रेसिंग स्टाइल ने एक हफ्ते में 5 रुपए महंगा हो सकता है पेट्रोल दिल्ली में सरेआम लड़की का हाईवोल्टेज ड्रामा, ने बचाया हजारों का चालान बागपत: छपरौली के एक गांव में मजदूर की ईटों से पीट-पीट कर हत्या

भारत ने कश्मीर को लेकर ख़ारिज किया पाक और चीन का साझा बयान कहा- कश्मीर अभिन्न है भारत से

कश्मीर मुद्दे पर चीन द्वारा पाकिस्तान को समर्थन देने की बात पर भारत सरकार की ओर से प्रतिक्रिया आई है। भारत सरकार ने चीन और पाकिस्तान की कश्मीर मुद्दे पर साझा बयान को सिरे से खारिज कर दिया है।

Gunjan 10-09-2019 16:05:52



भारत ने कश्मीर को लेकर ख़ारिज किया पाक और चीन का साझा बयान कहा- कश्मीर भारत है 


कश्मीर मुद्दे पर चीन द्वारा पाकिस्तान को समर्थन देने की बात पर भारत सरकार की ओर से प्रतिक्रिया आई है। भारत सरकार ने चीन और पाकिस्तान की कश्मीर मुद्दे पर साझा बयान को सिरे से खारिज कर दिया है। विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि हम जम्मू-कश्मीर पर चीन और पाकिस्तान के संयुक्त बयान को खारिज करते हैं। भारत ने यह भी कहा कि जम्मू और कश्मीर हमारा अभिन्न अंग (हिस्सा) है। बता दें कि चीनी विदेश मंत्री के हालिया दौर पर दोनों देशों ने संयुक्त बयान जारी किया था। 

दरअसल, चीन ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान को समर्थन देने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कहा कि वह किसी भी ऐसी एकपक्षीय कार्रवाई का विरोध करता है, जो क्षेत्रीय स्थिति को जटिल बना सकता है। दोनों देशों ने एक साझा बयान में यह बात कही थी।

Ministry of External Affairs (MEA): We reject the reference to Jammu & Kashmir in the Joint Statement issued by China and Pakistan after the recent visit of Chinese Foreign Minister. Jammu & Kashmir is an integral part of India.

वहीं दूसरी ओर विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत लगातार चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर प्रोजेक्ट पर चिंता जताता रहा है। बता दें कि 1947 से ही यह भारतीय जगह पर बन रहा है, जहां पाकिस्तान ने अवैध तरीके क्बाज जमा रखा है। 

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, चीन के विदेश मंत्री और राज्य पार्षद वांग यी की दो दिवसीय पाकिस्तान यात्रा के समापन के बाद रविवार को यह बयान जारी किया गया।

अपनी यात्रा के दौरान, चीनी विदेश मंत्री ने प्रधानमंत्री इमरान खान, अपने समकक्ष शाह महमूद कुरैशी, राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और थल सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ वार्ता की। बयान में कहा गया है, “चीनी पाकिस्तान की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता, स्वतंत्रता और राष्ट्रीय गरिमा की रक्षा के लिए अपने समर्थन की पुष्टि करता है और साथ ही क्षेत्रीय और अंतरार्ष्ट्रीय मुद्दों में उसके समर्थन की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराता है।”

पाकिस्तान का दौरा करने आए चीनी प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि चीन कश्मीर की मौजूदा स्थिति पर भी ध्यान दे रहा है। उसने दोहराया कि यह मुद्दा “इतिहास से चला आ रहा विवाद है, जिसका समाधान नहीं हुआ है।” चीन ने कहा कि इस विवाद का हल द्विपक्षीय रूप से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के आधार पर ठीक से और शांति से हल किया जाना चाहिए। 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :