आवाज़ नहीं जीती जागती मिस्साल है साहिल कुछ इस तरह है करवाचौथ की तैयारी करवा चौथ के इस सीन से हिट हुई ये पांच फिल्में वॉर ने किया 250 करोड़ का आंकड़ा पार चिदंबरम की जमानत पर अब कल होगी सुनवाई अयोध्या केस : सिर्फ मुस्लिम पक्ष से ही पूछताछ पर कोर्ट बवाल ? परिवार के 5 सदस्यों को लेकर खाई में गिरी कार 7 की मौत 90 लाख से पड़ा दिल का दूर : पीएमसी 370 पर श्रीनगर में प्रदर्शन मोहिना ने की कैबिनेट के बेटे से शादी जानिये कितनी फीस लेते है कपिल शर्मा 1 एपिसोड की जानिए किस मुद्दे पर बरसे शाह कपिल शर्मा शो में गोविंदा ने भरी पत्नी टीना आहूजा की मांग हरियाणा में विपक्ष को चुनौती देते मोदी, कहा दम है तो वापस लाके दिखाओ 370 आलिया भट्ट-रणबीर कपूर की शादी पर चर्चा, भड़कीं कंगना रनौत की बहन BCCI के नए अध्यक्ष बने सौरव गांगुली स्मिथ के करीब पहुंचे कोहली आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में कौन हैं अभिजीत बनर्जी Housefull4 के प्रमोशन में लगे अक्षय कुमार ने शेयर किया एक और पोस्टर KBC11: में बिहार के गौतम कुमार ने जीते एक करोड़ रुपए

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के फाइनल से हटे दीपक पुनिया चोट रही कारण

भारत के युवा पहलवान दीपक पुनिया चोट के कारण यहां जारी विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के फाइनल में नहीं खेलेंगे, जिसके कारण उन्हें सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा।

Deepak Chauhan 22-09-2019 12:38:06



भारत के युवा पहलवान दीपक पुनिया चोट के कारण यहां जारी विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के फाइनल में नहीं खेलेंगे, जिसके कारण उन्हें सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा। पुनिया को 86 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में रविवार को ईरान के हसन याजदानिचाराटी का सामना करना था, लेकिन चोट के कारण वह अब मुकाबला नहीं खेलेंगे। दीपक ने सेमीफाइनल में स्विट्जरलैंड के स्टेफन सेइचमुथ को 8-2 से मात दकर फाइनल में जगह बनाई थी। दीपक पहले ही ओलंपिक कोटा हासिल कर चुके हैं।

दीपक ने पीटीआई से बातचीत में कहा, 'मेरा बायां पैर वजन नहीं ले पा रहा। इस हालात में कुश्ती लड़ना काफी मुश्किल है।' उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि यह याजदानिचाराटी के खिलाफ लड़ने का बड़ा मौका था, लेकिन कुछ नहीं किया जा सकता।   

बता दें कि  20 साल के युवा पहलवान दीपक ने कजाकिस्तान के नूर सुल्तान में जारी विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के 86 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में जगह बनाई थी। दीपक ने सेमीफाइनल में स्विट्जरलैंड के स्टेफन सेइचमुथ को 8-2 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई थी।

कैडेट विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले दीपक अगर फाइनल में स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब होते तो वह ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार के बाद विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के इतिहास में स्वर्ण जीतने वाले दूसरे भारतीय पहलवान बनते। 

गौरतलब है कि दीपक पुनिया से पहले विनेश फोगाट, बजरंग पुनिया और रवि दाहिया टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल कर चुके हैं। 

भारत ने विश्व चैम्पियनशिप में अब तक कुल एक स्वर्ण, चार रजत और छह कांस्य जीते थे। सुशील के अलावा बिसंभर सिंह ने 1967 में नई दिल्ली में रजत, अनिल कुमार दहिया ने 2010 में रजत, बजरंग पुनिया ने 2018 में बुडापेस्ट में रजत पदक जीता था। इसके अलावा उदय चंद 1961 में योकोहामा में कांस्य, बजरंग 2013 में बुडापेस्ट में कांस्य, रमेश कुमार 2009 में हेरनिंग में कांस्य, नरसिंह पंचम यादव 2015 में लॉस वेगास में कांस्य, रवि कुमार दहिया 2019 में नूर सुल्तान में कांस्य और बजरंग 2019 में नूर सुल्तान में कांस्य पदक हासिल कर चुके हैं। बजरंग एकमात्र ऐसे भारतीय पहलवान हैं, जिन्होंने तीन बार विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीता है। वह एक बार रजत और दो बार कांस्य जीत चुके हैं।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :