मोटर व्हीकल एक्ट: हवलदार शराब के नशे में वाहन चलाता मिला, ट्रैफिक पुलिस ने काटा 15 हजार का चालान जल्द ही दिल्ली-कटरा के बीच चलेगी देश की दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस IAS बना गली ब्वॉय,पायी 77वीं रैंक अब देहरादून निवासी घर बैठे कराएं वाहन की प्रदूषण जांच कश्मीर मैं होगा अब विकास का राज: PM मोदी बागपत: महिला सिपाही पर हमला बाघपत: करंट लगने से महिला की मौत BCCI के ACU चीफ ने दिया सुझाव, कहा मैच फिक्सिंग-सट्टेबाज को लीगल किया जाए अब लखनऊ के उबर ड्राइवर ने अपनी मधुर आवाज के साथ लोगों का ध्यान किया आकर्षित IND vs SA, 2nd टी 20 मैच में कुछ ऐसा होगा मोहाली का पिच DRDO का अनमैन्ड एरियल व्हीकल दुर्घटनाग्रस्त एक छोटी सी चिड़ियां ने सिखाई ज़िन्दगी की सीख PM मोदी के जन्मदिन पर नेताओं ने दी बधाई मुझे कश्मीर के लोगों की चिंता : गुलाम नबी आजाद बढ़ी मुश्क़िलों में गिरा लालू का परिवार IRCTC टेंडर घोटाला में 2 दिसंबर से सुनवाई क्यों नहीं रोक पा रहा सऊदी अरब खुद पर हमला सोशल मीडिया पर बटोरीं सुर्खियां PM मोदी की 8 ड्रेसिंग स्टाइल ने एक हफ्ते में 5 रुपए महंगा हो सकता है पेट्रोल दिल्ली में सरेआम लड़की का हाईवोल्टेज ड्रामा, ने बचाया हजारों का चालान बागपत: छपरौली के एक गांव में मजदूर की ईटों से पीट-पीट कर हत्या

छोटे से घोंघे से जापान की 25 ट्रेने प्रभावित साथ ही 12 हजार यात्री परेशान

इस बार दक्षिणी जापान में बिजली ठप होने से करीब 26 ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ा। इससे करीब 12 हजार यात्री परेशान हुए। रेलवे ने जांच के आदेश दिए। एक हफ्ते बाद रिपोर्ट में माफी की बजाय घोंघा को जिम्मेदार ठहराया गया। रेलवे अधिकारी ने बताया कि वह यह तो नहीं

Deepak Chauhan 28-06-2019 16:13:17



जापान में लोग वक्त के पाबंद हैं। किसी भी सर्विस में देरी पर कंपनी को फौरन सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी पड़ती है। इस बार दक्षिणी जापान में बिजली ठप होने से करीब 26 ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ा। इससे करीब 12 हजार यात्री परेशान हुए। रेलवे ने जांच के आदेश दिए। एक हफ्ते बाद रिपोर्ट में माफी की बजाय घोंघा को जिम्मेदार ठहराया गया। रेलवे अधिकारी ने बताया कि वह यह तो नहीं कह सकते कि ऐसा पहली बार हुआ है, लेकिन यह घटना अनूठी जरूर है।


कई स्टेशन पर लोग परेशान दिखे

दरअसल, 30 मई को बिजली आपूर्ति बाधित होने से क्युशु रेलवे कॉर्पोरेशन की सेवा पर असर पड़ा। इस वजह से कंपनी को मजबूरन 26 ट्रेनों सहित दूसरी सेवाओं को निरस्‍त करना पड़ा था। वहीं, कुछ ट्रेनें देरी से चली थीं। इस घटना के चलते कई स्टेशनों पर असमंजस और अव्यवस्था का माहौल देखा गया।

कंपनी के प्रवक्‍ता के मुताबिक, ‘‘बिजली आपूर्ति में आई इस बाधा के लिए घोंघा जिम्‍मेदार है। पहले हमें लगा था कि पॉवर सिस्टम के अंदर कोई जिंदा कीड़ा है, लेकिन वह एक मरा हुआ घोंघा निकला।’’ स्‍थानीय मीडिया के मुताबिक, घोंघा के अंदर जाने से बिजली उपकरण में शॉर्ट सर्किट हो गया था। इससे ट्रेनों की पॉवर सप्लाई प्रभावित हुई।

रेलवे अधिकारियों ने कहा, ‘‘कई बार हिरण या दूसरे जानवर ट्रेनों से टकरा जाते हैं और उस वजह से हमें काफी दिक्‍कत भी होती है, लेकिन पहली बार छोटे से कीड़े घोंघे की वजह से परेशानी हुई। एहतियातन हमने दूसरे उपकरणों की भी जांच की है, लेकिन उनमें घोंघे की मौजूदगी नहीं थी।’’

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :